About KhurafatiTech by Munendra

ब्लॉग के बारे में :
सबसे पहले आपको प्यार भरा "नमस्कार" आपका KhurafatiTech by Munendra में स्वागत है ...
यहाँ पर आपको Educational, Technology, Scientific Facts , Life, Relationship guide, Health, Physics, Motivational, Android, Computer और भी काफ़ी विषयोंं से सम्बन्धित जानकारी दी जाती है.
वैसे तो आज इंटरनेट पर हज़ारो लाखों साइट है, जो हमारी तरह और हमसे भी कहींं बेहतर जानकारी उपलब्ध करवाती हैं लेकिन अधिकतर जानकारी इंग्लिश में उपलब्ध की जाती | हिन्दुस्तान की राष्ट्र भाषा हिन्दी है और बहुत लोगों को इंग्लिश समझने में परेशानी होती है या उतने अच्छे से नहीं समझ पाते जितना कि वो हिन्दी मेंं समझ सकते हैं | कई बार देखने में आता है कि विजिटर को अपने सवालों के पूरे जवाब नही मिलते या वह समझ नहीं पाता और विजिटर कन्फयूज़ हो जाता है | क्योंकि हिन्दी हमारे खून में है, हम सोचते भी हिन्दी में हैं, समझते भी हिन्दी में हैं भले ही जुबान पर कोई अन्य भाषा हो | अन्य भाषा का शब्द हमारे लिये सिर्फ शब्द होता है वहीं हिन्दी का एक शब्द मात्र ही हमारे दिमाग में अनेक कल्पनायें और विचारों को जन्म देता है और वो शब्द, मात्र शब्द नहींं रहता !

                       हमारी साईट का उद्देशय मुख्य रूप से उन विजिटर को हिन्दी मे जानकारी मुहैया करवाना है | इस परेशानी को दूर करने की हमारी पूरी कोशिश है अगर आपका पोस्ट से सम्बन्धित कोई सवाल रह जाता है तो आप पोस्ट पर सवाल कमेन्ट कर सकते हैं | अतिरिक्त सहयता के लिये आप हमसे हमारे दिये हुए सम्पर्क (ई-मेल, फेसबूक पेज, Whats-App ....) पर सीधा सम्पर्क कर सकते हैं | जल्द से जल्द हम आपकी परेशानी या सवाल के जबाव के साथ आपसे समपर्क करेंगे |

मेरे बारे में :
मेरा नाम, मुनेन्द्र सिहँ है, मैने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक [B.Sc.(H) - Physics] 2016 में किया है | मेरी रूचि अहम रूप से टैक्नोलॉजी और भौतिक विज्ञान में रही है और मुझे दूसरोंं के साथ जानकारी साझा करना बहुत अच्छा लगता है | मैं मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ                          पहले हमारे देश में अंग्रेज़ों की हुकूमत रही और आज अंग्रेज़ी हर जगह यहँ तक कि इंटरनेट पर भी अपनी हुकुमत जमाये बैठी है | बहुत से लोग हैं जिन्हें हिन्दी बहुत अच्छे से आती है लेकिन अल्प-बुद्धी* और नासमझ** लोग ये समझ बैठे हैं कि अंग्रेजी में लिखना, हिन्दी में लिखने से ज्यदा सम्मान देगा | वरना देखा जाये तो इससे भरतीय लोगों से ज्यादा विदेशी लोगों को फायदा होता  है क्योंकि ये अपना ज्ञान उनकी भाषा में लिखते हैं तो पढ़ने वाले भी अधिकतर विदेशी ही होंगे | लेकिन मेरी हमेशा कोशिश रहती है कि मैं हिन्दी के लिए, हिन्दी पढ़्ने वालों के लिए और हिन्दुस्तान के लिए  लिखूूँ |   हमारेे साथ जुुुुड़े रहने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद |
जय हिन्द, वन्दे मातरम!

[*][**] ये शब्द अंग्रेजी या अंग्रेजी लिखने या बोलने वालोंं के लिये नहीं हैं | मेरा मतलब सिर्फ उन लोगों से है जो किसी एकाकी भाषा को ज्यादा महत्व देते हैं |